दोस्ती और साहस की कहानी | DOSTI AUR SAHAS KI KAHANI

यह कहानी है दो दोस्तों की, आरव और नीरज की, जो एक छोटे से गाँव में रहते थे। वे दोनों बचपन से ही साथ थे और एक दूसरे के बिना अपनी जिंदगी की कल्पना भी नहीं कर सकते थे। उनकी दोस्ती मिसाल थी, लेकिन उनकी जिंदगी में एक दिन ऐसा मोड़ आया, जिसने उनके साहस और दोस्ती की असली परख की।